Navi Bar

हैकर से फोन का डाटा बचाने के नुस्खे (2020)


Hacker se phone ka data bachane ke nuskhe
Hacker se phone ka data bachane ke nuskhe

मोबाइल फोन हमारी ज़िन्दगी का एक अहम हिस्सा है अपने पर्सनल फोटो विडियो डाक्यूमेंट्स स्टोर करने से लेकर बैंकिंग तक हम फोन में बहुत कुछ करते हैं। ऐसे में हैकिंग वायरस का खतरा भी है अगर आप सोचते हैं वायरस सिर्फ कंप्यूटर में होते हैं तो सावधान हो जाइये क्योकि मोबाइल हैकिंग और वायरस की शिकायतें तेज़ी से बढ़ रही हैं। थोड़ी सी लापरवाही से आपके फोन में वायरस आ सकता है। आज में टेक जी आपको वायरस और हैकिंग के बारें में सभी जरूरी बातें बता रहा हूँ ध्यान से आखिर तक जरूर पढ़ें और अपने दोस्तों के साथ भी इस जरूरी जानकारी को शेयर करें।

स्पाईवेयर क्या होता है इससे कैसे बचें ?

अगर स्पाईवेयर आपके फोन में किसी तरह इनस्टॉल हो जाता है तो आप अपने फोन में क्या कर रहे हैं इस सब की जानकारी किसी थर्ड पार्टी को भेजता है। इतना ही नहीं यह आपके फोन की लोकेशन समेत कई तरह की सेंसिटिव जानकारियां भी ट्रैक कर किसी दुसरे व्यक्ति तक पहुंचता है और किसी को पता भी नहीं पड़ता उसकी जानकारियां थर्ड पार्टी को साँझा हो रही हैं। अगर आपका फोन ज्यादा इन्टरनेट डाटा खर्च कर रहा है और स्विच ऑफ होने में जरूरत से ज्यादा समय ले रहा है तो समझ लीजिये आपके फोन में स्पाईवेयर इनस्टॉल है। स्पाईवेयर या तो किसी व्यक्ति द्वारा इनस्टॉल किया जाता है या किसी अननोन वेबसाइट द्वारा इंस्टाल की हुई एप से। इससे बचने का सिर्फ एक तरीका है प्ले स्टोर के आलावा बाहर से एप इनस्टॉल ना करें और भरोसेमंद व्यक्ति के अलावा किसी के हाथ में अपना फोन ना छोड़ें। अपने फोन की सेटिंग्स में जाएं फिर सिक्यूरिटी के विकल्प को चुनें और अननोन सोर्सेज के विकल्प को बंद कर दें।

रैनसमवेयर क्या होता है इससे कैसे बचें?

रैनसमवेयर एक ख़ास तरह का मैलवेयर है जो आपके फोन की फाइल्स को एन्क्रिप्ट कर देगा। इस मैलवेयर से फोन की सभी फाइल्स हैकर द्वारा लॉक करदी जाती हैं फिर हैकर एक कीमत अदा करने को कहते है फाइल्स को दुबारा अनलॉक करने के लिए। हैकर बिटकोईन या ऑनलाइन द्वारा पैसे मांगते हैं। कुछ रैनसमवेयर फोन के सेफ मोड में जाकर अनइनस्टॉल किये जा सकते हैं। इससे बचने के लिए थर्ड पार्टी सोर्स से एप इंस्टाल ना करें।

पर्सनल आइडेंटिटी थीव्स

इस मैलवेयर से चोर ऑनलाइन आपके फोन को एक्सेस करके आपके पर्सनल इनफार्मेशन बैंकिंग डिटेल्स को चुरा सकते हैं और आपके नाम से आपके खाते का बैलेंस खर्च कर सकते हैं। वायरस और मैलवेयर बहुत तरह के हैं लेकिन हर मोबाइल कम्पनी और गूगल अपने फोन को सुरक्षित रखने के लिए सिक्यूरिटी पैच की अपडेट देते रहते हैं इसलिए अपने फोन को हमेशा अपडेट रखें और सबसे बढ़िया प्ले स्टोर के अलावा बहर से एप इनस्टॉल करने से बचें।